Home अपना मध्यप्रदेश कैसे गिराई गई थी कमलनाथ सरकार, विधायक ने किया खुलासा

कैसे गिराई गई थी कमलनाथ सरकार, विधायक ने किया खुलासा

66
0

अशोकनगर, हितेंद्र बुधौलिया। मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार गिरने के 6 माह बाद, सरकार गिराने में शामिल रहे अशोकनगर के पूर्व विधायक जजपाल सिंह जज्जी ने एमपी ब्रेकिंग से खास बातचीत में कई महत्वपूर्ण खुलासे किए हैं। ये खुलासे आगे की चुनावी राजनीति में हंगामा बरपा सकते हैं। इसी के साथ उन्होने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि जीतने की स्थिति में अगले तीन साल में उन्होने अपने क्षेत्र का विकास नहीं किया, तो वो फिर कभी चुनाव नहीं लड़ेंगे।

जज्जी ने कहा है कि पूरी कांग्रेस हम लोगों पर पैसे लेने का आरोप लगाती रही है, जबकि जयवर्धन सिंह खुद उनसे कह चुके हैं कि आप पैसे नहीं ले सकते। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को इस बात का एहसास हो गया है कि सिंधिया जी के साथ सरकार ने गलतियां की है। इसके अलावा इस खास बातचीत में उन्होंने मध्यप्रदेश की कांग्रेस  सरकार गिरने की पूरी कहानी भी सिलसिलेवार तरीके से बताई।

बीते 6 माह से लगातार कांग्रेस के आरोप झेल रहे जजपाल सिंह जज्जी ने उनके जवाब तो नहीं दिए, मगर कांग्रेस को कटघरे में खड़े करने के लिए कुछ ऐसे खुलासे किए हैं जो आगे की राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप के नए दौर शुरू कर सकते हैं। जज्जी का कहना है कि एक तरफ पूरी कांग्रेस 22 पूर्व विधायकों पर 35-35 करोड़ में बिकने का आरोप लगा रही है, वहींं बीते माह जब जयवर्धन सिंह से वे मिले थे तो उन्होंने खुद कहा था कि आप पैसे नहीं ले सकते है जज्जी ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की उपेक्षा का एहसास कांग्रेस को हो गया है। जयवर्धन सिंह ने यह भी माना है कि कांग्रेस सरकार से सिंधिया जी को लेकर गलतियां हुई है। उल्लेखनीय है अभी तक कांग्रेस पार्टी सरकार गिराने को लेकर सिंधिया को कटघरे में खड़ा करती आ रही है।

इस बातचीत में जजपाल सिंह जज्जी ने सरकार गिराने की कहानी का खुलासा करते हुए कहा कि 19 विधायकों के साथ दिल्ली में जब सिंधिया जी से मिले तो उनके एक बार कहने पर सारे लोगों ने इस्तीफा देने की बात कही थी। कांग्रेस सरकार में सिंधिया जी की एवं उनसे जुड़े विधायकों की उपेक्षा की जा रही थी। साथ ही उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार द्वारा सिंधिया जी को सड़क पर उतर जाने वाले बयान के बाद सरकार गिराने की कहानी शुरू हुई थी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी दोनों पार्टियों के काम करने के तरीके में बहुत अंतर है। उन्होंने कहा कि जो काम बीते 15 माह में वह विधायक रहते नहीं करा पाए उससे कई गुना काम बिना विधायक रहते भाजपा सरकार से करा लिए हैं। साथ ही उन्होंने एक बड़ी घोषणा की कि अगर विधायक बनते हैं और 3 साल रहते हैं और फिर भी सरकार से क्षेत्र का विकास न करा सके तो आगे चुनाव नहीं लड़ेंगे।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here