Home संपूर्ण ख़बर फसल नुकसान की भरपाई पर बोले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान- किए जा...

फसल नुकसान की भरपाई पर बोले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान- किए जा रहे सर्वोत्तम प्रबंध

99
0

Shivraj Singh Chouhan

भोपाल. डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश(madhyapradesh) में आगामी उपचुनाव(byelection) के लिए तारीखों की घोषणा हो चुकी है। इस बीच मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान(Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) ताबड़तोड़ बैठक ले रहे हैं एवं जनता की समस्याओं के निराकरण के लिए नई योजना एवं घोषणाएं कर रहे हैं।मुख्यमंत्री चौहान भारत सरकार के अंतर मंत्रालयीन अधिकारी दल से चर्चा कर रहे थे। । जहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में हुए अति वर्षा से किसानों(farmers) की फसलों(crops) को हुए नुकसान की भरपाई के लिए सरकार द्वारा सर्वोत्तम प्रबंध किए जा रहे हैं।

दरअसल शुक्रवार को हुई बैठक में सीएम शिवराज ने कहा कि किसानों को तत्काल राहत राशि देने के लिए लॉन्ग टर्म योजना में किसानों को कृषि कार्य संबंधी मार्गदर्शन दिया जाएगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यदि वर्षा से कृषि फसलों को काफी नुकसान हुआ है जिसको लेकर उन्होंने किसान बंधुओं से चर्चा भी की थी। केंद्रीय दल द्वारा आकलन करवाया गया। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि अति वर्षा और बाढ़ की क्षति को देखते हुए कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा किसानों को क्रॉप पैटर्न के बारे में मार्गदर्शन किया जाएगा।

इसके साथ ही दो प्रमुख फसलों पर निर्भर रहने वाले किसानों को अंतर्भरती फसलों के लिए प्रेरित किया जाएगा। सीएम शिवराज ने बताया कि रवि और खरीफ दोनों तरह के व्यावहारिक समाधान अपना कर किसानों को लाभान्वित करने की योजना है। इसके साथ-साथ किसानों के हित के लिए बड़े फैसले भी लिए जाएंगे।

वहीं दूसरी तरफ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि कोरोना संकटकाल के कारण जिसकी वजह से फसलों की क्षति के लिए केंद्र सरकार से आर्थिक सहयोग की मांग की गई है। बता दें कि अंतर मंत्रालयीन दल के इस बैठक में प्रभारी संयुक्त सचिव राजवीर सिंह सहित कृषि उत्पादन आयुक्त केके सिंह, प्रमुख सचिव अजीत केसरी भी उपस्थित थे।मुख्यमंत्री चौहान से आज भेंट करने आए दल को प्रदेश के अति वर्षा और बाढ़ से प्रभावित जिलों के भ्रमण और फसल क्षति का आकलन करने के लिए धन्यवाद दिया।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here