Home राष्ट्रीय बिजली जोन व केंद्रों पर उपभोक्ताओं के लिए हेल्प डेस्क होगी

बिजली जोन व केंद्रों पर उपभोक्ताओं के लिए हेल्प डेस्क होगी

187
0


बिजली जोन व केंद्रों पर उपभोक्ताओं के लिए हेल्प डेस्क होगी


शहरों में रीडिंग के शिकायतें मिली तो कठोर कार्रवाई होगी
मंत्री, एमडी सभी करेंगे उपभोक्ताओं से सीधा संवाद
बिजली उपभोक्ताओं की संतुष्टि का स्तर और बढ़ाएंगे- ऊर्जा मंत्री श्री तोमर
 


भोपाल : शुक्रवार, दिसम्बर 11, 2020, 21:31 IST

ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि बिजली उपभोक्ता हमारे लिए सम्माननीय हैं, शहरों में कुछ केंद्रों, जोन पर हेल्प डेस्क बनाई जाए, जहां एक व्यक्ति उपभोक्ताओं को उपर्युक्त जानकारी दे, बुजुर्ग उपभोक्ता की मदद करे। इससे सकारात्मक संदेश जाएगा। शहरों में मीटर रीडरों की लापरवाही पर अंकुश लगाया जाएगा, जेई, एई को भी आकस्मिक जाँच के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि रीडिंग को लेकर कोई लापरवाही शिकायतें नहीं आना चाहिए, ऐसे होने पर कठोर कार्रवाई होगी।

ऊर्जा मंत्री ने शुक्रवार की शाम पोलोग्राउंड इंदौर के सभागार में कहा कि कंपनी के पोर्टल एवं बेबसाइट पर जानकारी हिंदी में हो, ताकि ज्यादा उपभोक्ता लाभ ले पाए। उन्होंने कहा कि मैं स्वयं बिजली उपभोक्ताओं से फोन पर सीधा संवाद करता हूं, जहां भी जाता हूं आपूर्ति, बिल के बारे में पूछता हूं, बिजली कंपनी के एमडी एवं अन्य अधिकारी भी इस तरह का संवाद सतत करे, इससे उपभोक्ता कंपनी एवं सरकार के प्रति संतुष्ट होगा। श्री तोमर ने कहा कि मैंने मुख्यमंत्री से अनुरोध किया है कि माह में पांच उपभोक्ताओं से वे भी बिजली के संबंध में बात करेंगे। इससे वस्तु स्थिति पता चलेगी, सकारात्मक माहौल बनेगा।

ऊर्जा मंत्री श्री तोमर ने कहा कि बिजली चोरी रोकी जाए, जहां रात चोरी हो रही है, वहां वीडियो रिकार्डिंग कराई जाए, इससे चोरी करने वालों में भय होगा। श्री तोमर ने कहा कि 100 रूपए में 100 यूनिट बिजली का उपयोग करने वाले पात्र उपभोक्ताओं से शत-प्रतिशत वसूली होना चाहिए। कोई भी परिवार ऐसा नहीं हैं जो 100 का बिजली बिल सतत न दे पाए। बड़े बकायादारों से सख्ती से वसूली हो। उन्होंने इंदौर शहर में और सुधार की जरूरत बताई एवं स्मार्ट मीटर की खूबियों की जानकारी अन्य शहरों के लिए रिपोर्ट की रूप में भोपाल भेजने के निर्देश भी दिए। उन्होंने ग्रिड एवं जोन, वितरण केंद्रों पर सुविधाएं बढ़ाने के निर्देश भी दिए, और कहा कि इसके लिए सरकार नीति भी बनाने जा रही है। । उन्होंने कहा कि जोन, वितरण केंद्रों में रात 12 से सुबह 8 तक भी पर्याप्त स्टाफ होना चाहिए। श्री तोमर ने छः माह में व्यापक परिवर्तन लाने की कार्ययोजना पर अमल करने के निर्देश भी दिए।

एलआरयू से ट्रांसफार्मर फेल रेट घटा

मप्रपक्षेविविकं के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर ने जानकारी दी कि हमारा ट्रांसफार्मर रेट सतत घट रहा है, यह प्रदेश में सबसे कम है। कंपनी के विभिन्न परिसरों में संचालित लोकल रिपेयरिंग यूनिट(एलआरयू) से फेल रेट घटाने में मदद मिली है, अब तक एलआरयू में 8000 से ज्यादा ट्रांसफार्मर रिपेयर हो चुके है।


राजेश पाण्डेय

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here