Home अपना मध्यप्रदेश भिन्ड मे रेत माफियाओं के बीच जमकर फायरिंग, लगाम लगाने मे पुलिस...

भिन्ड मे रेत माफियाओं के बीच जमकर फायरिंग, लगाम लगाने मे पुलिस विफल

67
0

sand mafia

भिण्ड, गणेश भारद्वाज। अमायन थाना क्षेत्र की सांधुरी सिंध नदी रेत खदान पर रेत खनन(sand mafia) और परिवहन के वर्चस्व को लेकर दो पक्षों में जमकर गोलियां चली । सूत्रों की माने तो दोनों पक्षों में लगातार 1 घंटे तक आधा सैकड़ा से अधिक फायर हुए , जिसमें किसी भी जनहानि या किसी भी व्यक्ति के घायल होने की खबर नहीं है हां इस गोलीबारी में एक पक्ष ने रेत भरकर ले जा रहे ट्रकों के टायर में गोली मारकर बस्ट कर दिया है।

घटनाक्रम के बाद जब इस मामले की सूचना स्थानीय अमायन थाना पुलिस(police) को मिली तो दल बल के साथ अमायन थाना प्रभारी शिव प्रताप सिंह कुशवाह मौके पर पहुंचे और मामले की पड़ताल में जुट गए, रेत का अवैध उत्खनन स्थानीय छोटे-छोटे माफियाओं(sand-mafia) के द्वारा करवाया गया है । अपुष्ट सूत्रों पर भरोसा करें तो यह गोलीबारी मातबर सिंह गुर्जर और रविंद्र सिंह सरपंच के बीच रेत खनन के वर्चस्व को लेकर हुई है। खबर लिखे जाने तक पुलिस पड़ताल में जुटी हुई है अब देखना यह है कि उपचुनाव की इस बेला में मेहगांव विधानसभा क्षेत्र में घटित हुए इस घटनाक्रम में कोई कार्रवाई होती है या नहीं। या फिर 1 घंटे तक आधा सैकड़ा गोलियां चलने के बाद भी मामला रफा-दफा कर दिया जाता है।

यहां हम बता दें कि इस क्षेत्र में रेत उत्खनन के लिए तैनात की गई पावरमेक कंपनी के द्वारा व्यापक पैमाने पर रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन करवाया जा रहा है । इस पावर मेक कंपनी को नीचे से लेकर ऊपर तक सरकार का संरक्षण प्राप्त है। 4 महीने के वर्षा काल में भी इस कंपनी के द्वारा नियम कायदे कानून को ताक पर रखकर करोड़ों रुपए के रेत का अवैध उत्खनन स्थानीय छोटे-छोटे माफियाओं(sand-mafia) के द्वारा करवाया गया है और फिर अवैध रूप से खनित किए गए रेत को अवैध परिवहन के बलबूते पर बेचने का काम भी किया गया है ।

सूत्रों की माने तो कंपनी को जितने रेत की अनुमति वर्षा काल में परिवहन करने की थी उससे करीब 1000 गुना रेत परिवहन कंपनी के द्वारा करवाया गया है। जिससे पावेरमेक ने लाखों करोड़ों रुपये का मुनाफा कमाया है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here