Home राष्ट्रीय माँ नर्मदा हमारी आस्था का केन्द्र, उनका आंचल छलनी नहीं होने देना...

माँ नर्मदा हमारी आस्था का केन्द्र, उनका आंचल छलनी नहीं होने देना : मंत्री श्री पटेल

180
0


माँ नर्मदा हमारी आस्था का केन्द्र, उनका आंचल छलनी नहीं होने देना : मंत्री श्री पटेल


अवैध रेत उत्खनन पर होगी कठोरतम कार्यवाही
 


भोपाल : बुधवार, दिसम्बर 16, 2020, 21:00 IST

किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा है कि माँ नर्मदा हमारी आस्था का केन्द्र है। नर्मदांचल में अवैध रेत उत्खनन करने वालों के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा है कि अवैध उत्खननकर्ताओं के विरूद्ध भारतीय दण्ड विधान की धारा 379 और 411 में मुकदमा दर्ज किया जायेगा। श्री पटेल ने कहा कि ओवरलोडेड डम्परों को न सिर्फ जप्त किया जायेगा बल्कि उनके मालिकों के विरूद्ध भी कार्यवाही की जायेगी। श्री पटेल ने सिवनी-मालवा के प्रतिनिधि मण्डल से हुई मुलाकात में यह बात कहीं।

जबलपुर-होशंगाबाद के प्रभारी और कृषि मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा है कि नर्मदा नदी के किनारे अवैध उत्खनन को सख्ती से रोकने की हिदायत संभागीय एवं जिलाधिकारियों को दी गई है। उन्होंने बताया कि संबंधित अधिकारियों को स्पष्ट कर दिया गया है कि यदि उन्होंने अवैध रेत उत्खनन कर्ताओं के विरूद्ध कार्यवाही नहीं की तो उनके विरूद्ध सरकार कार्यवाही करेगी। श्री पटेल ने कहा कि अवैध उत्खनन को हर हाल में रोका जाएगा। माँ नर्मदा का आंचल छलनी करने वालों के विरूद्ध दण्डात्मक कानूनी कार्यवाही करेंगे। उल्लेखनीय है कि विगत दिनों दिल्ली प्रवास के दौरान श्री पटेल को जबलपुर जिले की शाहपुरा तहसील के बैलखेड़ी घाट पर अवैध उत्खनन की सूचना दूरभाष पर मिली थी। मंत्री श्री पटेल के निर्देश पर पॉकलेन मशीन और डम्पर की जप्ती की कार्यवाही प्रशासन के द्वारा की गई थी।

ओवर लोडिंग से सड़कों को नुकसान पहुँचाने वालों के विरूद्ध भी होगी कार्यवाही

, मंत्री श्री पटेल ने ओवर लोडिंग से सड़कों को नुकसान पहुँचाने वाले वाहन चालकों और मालिकों के विरूद्ध भी कार्यवाही करने के निर्देश दिये है। श्री पटेल ने कहा कि ओवर लोडिंग से सड़के खराब होती है जो आगे चलकर सड़क दुर्घटनाओं का कारण बनती है। इन दुर्घटनाओं से निरपराध लोग जान-माल की क्षति के शिकार होते है। ऐसे वाहन चालकों और मालिकों के विरूद्ध नियमानुसार कठोर कार्यवाही की जायेगी।


अलूने

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here