Home राष्ट्रीय राज्यपाल श्री टंडन ने नैक वैधता अवधि बढ़वाने भिजवाया पत्र

राज्यपाल श्री टंडन ने नैक वैधता अवधि बढ़वाने भिजवाया पत्र

151
0


राज्यपाल श्री टंडन ने नैक वैधता अवधि बढ़वाने भिजवाया पत्र


प्रदेश के आठ शासकीय पाँच निजी विश्वविद्यालय हैं नैक मान्य 


भोपाल : सोमवार, मई 11, 2020, 17:33 IST

राज्यपाल श्री लाल जी टंडन ने प्रदेश में नैक ग्रेडिंग प्राप्त विश्वविद्यालयों के लिए नैक के वर्तमान मार्च से नवम्बर 2020 के चक्र को 6 माह के लिए आगे बढ़ाने की आवश्यकता बताई है। उन्होंने नैक के संचालक को पत्र भिजवा कर ग्रेडिंग चक्र की अवधि बढ़ाने को कहा है। पत्र में नैक की वर्तमान वैधता अवधि को भी चक्र अनुसार बढ़वाने का आग्रह किया गया है।

राज्यपाल के सचिव श्री मनोहर दुबे ने बताया कि मध्यप्रदेश के आठ शासकीय और पांच निजी विश्वविद्यालयों को नैक ग्रेडिंग प्राप्त है। इनमें से पाँच विश्वविद्यालयों की नैक ग्रेडिंग की मान्यता मार्च से नवम्बर 2020 के मध्य है। सभी विश्वविद्यालय नैक ग्रेडिंग के अगले चक्र के लिए सेल्फ स्टडी रिपोर्ट (एस.एस.आर.) तैयार करने की प्रक्रिया में है। सभी विश्वविद्यालयों ने नैक के समक्ष रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की हैं। आवश्यक अभिलेख तैयार किए जारहे हैं। कोविड-19 पेनडमिक के विश्व, देश और प्रदेश पर गहराये संकट के दृष्टिगत प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में सरकार के निर्देश अनुसार अस्थायी रूप से लॉक-डान किया गया है। इस अभूतपूर्व संकट के कारण विश्वविद्यालयों के लिए स्व-अध्ययन-प्रतिवेदन (एस.एस.आर.) अगली नैक ग्रेडिंग चक्र 2020 के लिए प्रस्तुत करना सम्भव नहीं है।

उन्होंने बताया कि राज्यपाल द्वारा इसी तारतम्य में नैक ग्रेडिंग के मार्च से नवम्बर तक के चक्र को 6 माह के लिए बढ़ाये जाने के निर्देश दिये हैं। इससे विश्वविद्यालय नैक ग्रेडिंग प्रक्रिया को बढ़ाई गई अवधि में पूर्ण कर सकेंगे। अगले चरण में नैक के समक्ष विधिवत अपना प्रक्ररण प्रस्तुत कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि बरकतुउल्ला विश्वविद्यालय की अप्रैल 2020, जीवाजी विश्वविद्यालय की मार्च 2020, महात्मा गाँधी चित्रकूट ग्रामोदय विश्वविद्यालय चित्रकूट की सितंबर 2020 और रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय की मार्च 2020 तक नैक वैधता है। उन्होंने बताया किशासकीय विश्वविद्यालयों में अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय रीवा की नैक ग्रेडिंग की वैधता जनवरी 2021 तक है। इसी तरह विक्रम विश्वविद्यालय उज्जैन की वैधता नवम्बर 2020 तक है। जबकि राजीव गाँधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय भोपाल की नैक वैधता जून 2023 तक है। देवी अहिल्या विश्वविद्यालय इंदौर को वर्ष 2020 में ही नैक वैधता प्राप्त हुई है।

उन्होंने बताया कि निजी विश्वविद्यालयों जेपी यूनिवर्सिटी गुना की नवम्बर 2021 तक है। रवीन्द्रनाथ टैगोर भोपाल की नवम्बर 2021, आईटीएम यूनिवर्सिटी ग्वालियर अगस्त 2023 के पीपुल्स यूनिवर्सिटी भोपाल नवम्बर 2023 और महर्षि महेश योगी वैदिक विश्वविद्यालय कटनी की भी नैक वैधता नवम्बर 2023 तक है।


अजय वर्मा

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here