Home राजधानी न्यूज़ Assembly Seats of Gwalior This time the expenses of Netaji will be...

Assembly Seats of Gwalior This time the expenses of Netaji will be more discussed in the by elections

86
0

Updated: | Sun, 04 Oct 2020 04:55 PM (IST)

Assembly Seats of Gwalior: ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि। पहली बार चुनाव में ग्वालियर की तीनों विधानसभाओं को खर्च के लिहाज से पूरी तरह संवेदनशील माना गया है। इसलिए इस बार नेताजी के हर खर्चे चर्चे में रहेंगे। नेताजी के ही खर्च पर कड़ी निगाह रखने के लिए फ्लाइंग स्क्वॉड टीम (एफएसटी) और अलग से प्रेक्षकों को बुलाया जाएगा। इसके अलावा स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के इंटेलिजेंस और इनपुट स्त्रोतों को दोगुना एक्टिव करने के निर्देश दिए गए हैं।

खास निगरानी के कारण नेताजी को भी संभलकर रहना होगा, क्योंकि खर्चे पर इस बार विशेष निगाह जो रहेगी। उधर ग्वालियर जिले में भले ही तीन विधानसभा सीटों पर चुनाव हैं, लेकिन प्रशासन को चार सीटों की कसरत करना पड़ रही है। इसका कारण कोरोना है, क्योंकि 275 तो सहायक मतदान केंद्र बढ़ गए और शारीरिक दूरी के कारण दोगुने अमले को हर काम में लगाना पड़ रहा है।

इस तरह रहेगी खर्चे पर निगाह

एफएसटी: जिला स्तर पर गठित की जाने वाली फ्लाइंग स्क्वॉड टीमों का गठन किया गया है यह थाना वार गठित की गई हैं। इसमें पुलिस,प्रशासन के साथ वीडियोग्राफी के लिए भी टीम रहती है। इस बार ज्यादा एफएसटी रखी जा रही हैं, जो प्रत्याशी के हर हरकत पर निगाह रखेंगी।

प्रेक्षक व सहायक व्यय प्रेक्षक: ग्वालियर जिले की तीनों विधानसभा ग्वालियर, ग्वालियर पूर्व और डबरा को व्यय संवेदनशील में रखा गया है। इसलिए इस बार प्रेक्षकों के अलावा सहायक प्रेक्षकों को भी विधानसभाओं में तैनात किया जाएगा। प्रेक्षक के साथ पूरा स्टाफ भी साथ रहता है और प्रत्याशी की हर गतिविधि की मॉनिटरिंग होगी।

इंटेलिजेंस: प्रशासन से लेकर पुलिस का इंटेलिजेंस भी सबसे अहम काम करता है। प्रत्याशियों की विधानसभाओं में किसी भी तरह के मतदाता प्रलोभन की गतिविधि पर खासतौर पर लोग एक्टिव किए जाते हैं। इस बार ऐसी टीमों को ज्यादा अलर्ट पर रखा गया है।

कोरोना ने बढ़ा दिया एक सीट का होमवर्क

इस बार कोरोना के कारण सरकारी अमले के सामने एक सीट का होमवर्क बढ़ गया है। वह इसलिए क्योंकि इस बार तीन विधानसभा में चुनाव होना है और एक हजार मतदाता एक बूथ पर रखने के कारण सहायक मतदान केंद्र बनाए गए हैं। 275 सहायक मतदान केंद्र तीनों विधानसभाओं में बनाए गए हैं और इतने आंकड़े के आसपास ही एक विधानसभा में केंद्र होते हैं। ऐसे में इन केंद्रों के लिए पूरा अमला और प्लानिंग करना पड़ी, जिस तरह एक विधानसभा की होती है। वहीं मतदान सामग्री से लेकर सभी कार्य में शारीरिक दूरी का पालन करना है तो दोगुना अमला लगाना पड़ रहा है।

तीन सीटों पर कुल 830603 मतदाता

-8 लाख 30 हजार 603 जिले में कुल मतदाता

-4 लाख 44 हजार 495 पुरूष,

-3 लाख 86 हजार 73 महिला एवं 35 अन्य (थर्ड जेंडर) मतदाता

तीन विधानसभा: मतदाता

-विधानसभा क्षेत्र 15 ग्वालियर-288081

-विधानसभा ग्वालियर पूर्व-314511

-विधानसभा क्षेत्र 19 डबरा-228011

1188:मतदान केंद्र

ग्वालियर में 409, ग्वालियर पूर्व में 447 ,डबरा (अजा) में 332 मतदान केन्द्र

इनका कहना है

इस बार तीनों विधानसभाओं को व्यय संवेदनशील रखा गया है। चुनाव के दौरान होने वाले खर्चों पर विशेष निगरानी रहेगी। एफएसटी टीम ज्यादा बनाई जा रही हैं।

आशीष तिवारी,उप जिला निर्वाचन,अधिकारी

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here