Home राजधानी न्यूज़ Bhopal News Now expected from BHEL for oxygen there will also be...

Bhopal News Now expected from BHEL for oxygen there will also be an initiative to start a plant

53
0

Publish Date: | Wed, 30 Sep 2020 04:16 PM (IST)

Bhopal News: भोपाल (नवदुनिया प्रतिनिधि)। गोविंदपुरा एवं मंडीदीप औद्योगिक क्षेत्र के 600 से अधिक उद्योग पिछले 27 दिन से ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं होने से ठप हैं। वहां फार्मा एवं फेब्रिकेशन से जुड़े काम नहीं हो पा रहे हैं। उद्योगपतियों ने शासन-प्रशासन स्तर पर सभी जतन किए, किंतु ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं हो पाई है। लिहाजा, अब उद्योगपति भेल (भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड) से आस लगा रहे हैं।

भेल में ऑक्सीजन का प्लांट है। उद्योगपतियों ने कलेक्टर अविनाश लवानिया को सुझाव दिया है कि भेल के प्लांट से ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकती है। इसके लिए जिला प्रशासन पहल करते हुए भेल प्रबंधन से चर्चा करे। साथ ही गोविंदपुरा स्थित बंद पड़े एक प्लांट को भी पुनः शुरू करने के लिए उद्योगपति प्रयास कर रहे हैं।

गोविंदपुरा में 1100 लघु उद्योग हैं। इनमें से फेब्रिकेशन व फार्मा के करीब 600 उद्योगों में काम पूरी तरह से ठप पड़ा है। इसी तरह की स्थिति मंडीदीप के उद्योगों की है। 20 उद्योगों में काम नहीं हो पा रहा है। दरअसल, मेडिकल इमरजेंसी के चलते उद्योगों में ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं की जा रही है।

उद्योगपति 10 फीसद ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की मांग कर रहे हैं। ताकि जरूरी ऑर्डर पूरे किए जा सके, लेकिन यह भी नहीं मिल पा रही है। पिछले सप्ताह कलेक्टर लवानिया के साथ उद्योगपतियों ने बैठक भी की थी। जिसमें उद्योगपतियों से उनके स्तर पर ऑक्सीजन की व्यवस्था करने की बात कही गई थी। इसके चलते अब उद्योगपति खुद आगे आकर प्रशासन को सुझाव दे रहे हैं।

चार साल से बंद पड़ा है प्लांट

गोविंदपुरा इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन के अध्यक्ष अमरजीत सिंह ने बताया कि उद्योगों में आइनॉक्स कंपनी ऑक्सीजन की सप्लाई करती है, किंतु मेडिकल इमरजेंसी होने के कारण सप्लाई बंद है। प्रशासनिक अफसरों ने यह स्थिति लंबे समय तक बने रहने की बात कही है। इसलिए अब अपने स्तर पर ऑक्सीजन के स्रोत ढूंढ रहे हैं।

भेल में ऑक्सीजन का बड़ा प्लांट है। इससे यदि ऑक्सीजन मिलेगी तो गोविंदपुरा व मंडीदीप दोनों ही जगह के उद्योग फिर से चालू हो जाएंगे। इसके अलावा गोविंदपुरा में ही एक ऑक्सीजन प्लांट है, जो पिछले चार साल से बंद पड़ा है। इसे पुनः शुरू करने के लिए भी कलेक्टर से निवेदन किया है। यदि प्रशासन उद्योगपतियों के सुझाव मानता है तो आने वाले कुछ दिनों में ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकती है।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here