Home राजधानी न्यूज़ Buffer zone in MP Madhya Pradesh Government will increase tourism in protected...

Buffer zone in MP Madhya Pradesh Government will increase tourism in protected areas through Travel in Buffer

83
0

Publish Date: | Sun, 22 Nov 2020 09:42 AM (IST)

भोपाल (नवदुनिया स्टेट ब्यूरो), Buffer zone in MP। मध्य प्रदेश की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए राज्य सरकार ‘बफर में सफर” शुरू करने जा रही है। इस योजना में सरकार प्रदेश के सभी संरक्षित क्षेत्रों (नेशनल पार्क, अभयारण्य) में पर्यटन को बढ़ावा देगी। इस सिलसिले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 24 नवंबर को बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व पहुंच रहे हैं, पार्क में बैठक होगी। जिसमें सभी टाइगर रिजर्व के क्षेत्र संचालक और वन्यप्राणी विशेषज्ञों को बुलाया गया है। उनसे संरक्षित क्षेत्रों में पर्यटन बढ़ाने पर चर्चा होगी। प्रदेश के बिगड़े आर्थिक हालातों में सरकार को पर्यटन से खासी उम्मीदें हैं। सरकार को धार्मिक, प्राकृतिक पर्यटन से ज्यादा संभावनाएं वन्यप्राणी पर्यटन में नजर आ रही हैं।

क्योंकि प्रदेश ने दोबारा टाइगर स्टेट का तमगा पा लिया है। इसलिए पर्यटकों को लुभाना ज्यादा आसान है। इसे देखते हुए सरकार संरक्षित क्षेत्रों में पर्यटन बढ़ाना चाहती है। बफर में सफर के तहत इसकी विस्तृत कार्ययोजना तैयार की जाना है। प्रस्तावित बैठक में इस कार्ययोजना पर मुख्यमंत्री अधिकारियों से बात करेंगे। साथ ही आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश में शामिल वन एवं वन्यप्राणियों से जुड़े मुद्दों पर भी चर्चा होगी।

मानसून पर्यटन शुरू कर सकती है सरकार

सूत्र बताते हैं कि सरकार मानसून पर्यटन भी शुरू कर सकती है। इसके बाद मानसून के दौरान भी पर्यटक जंगलों की सैर कर सकेंगे। हालांकि अभी यह तय होना शेष है कि पर्यटन किन क्षेत्रों में कराया जाएगा। ज्ञात हो कि वन्यप्राणियों के प्रजनन काल के चलते प्रदेश के संरक्षित क्षेत्रों में एक जुलाई से 30 सितंबर तक हर साल पर्यटन बंद कर दिया जाता है।

टाइगर सफारी की तैयारी

सरकार प्रदेश की तीन कान्हा, बांधवगढ़ और पेंच टाइगर रिजर्व में टाइगर सफारी खोलना चाहती है। केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय इसकी मंजूरी पहले ही दे चुका है। मुख्यमंत्री इनकी प्रगति पर भी बात करेंगे।

पन्ना को भी भुनाएगी सरकार

पन्ना टाइगर रिजर्व सहित जिला विश्व धरोहर घोषित किया गया है। सरकार पर्यटन बढ़ाने में इसका भी फायदा लेगी। बैठक में इस मुद्दे पर भी विस्तार से चर्चा होने की उम्मीद है। सरकार अगले तीन साल में देश के मानचित्र पर प्रदेश को एक पर्यटन राज्य के रूप में उकेरने की कोशिश में जुटी है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here