Home राजधानी न्यूज़ Harda News: सरकारी मदद से सैकड़ों ने संवारी किस्मत खामियों के कारण...

Harda News: सरकारी मदद से सैकड़ों ने संवारी किस्मत खामियों के कारण अटके भोपाल के 4302 पथ विक्रेताओं के प्रकरण

190
0

Publish Date: | Thu, 01 Oct 2020 01:21 PM (IST)

सरकारी मदद से सैकड़ों ने संवारी किस्मत, खामियों के कारण अटके भोपाल के 4302 पथ विक्रेताओं के प्रकरण-

– प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत पथ विक्रेताओं को दी जानी है 10 हजार रुपये की ऋण राशि

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

कोरोना संकट काल में सड़कों पर खाने-पीने, फल या फेरी लगाकर विभिन्न सामान बेचने वालों के लिए प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना लागू की गई है। इसके तहत भोपाल के 95 हजार से अधिक स्ट्रीट वेंडर (पथ विक्रेताओं) का पंजीयन अगस्त में किया था। इन्हें 10 हजार रुपये की ऋण राशि दी जाना है। कुल प्रकरणों में से 11068 की मंजूरी भी मिल गई, लेकिन ऋण लेने के लिए 6766 स्ट्रीट वेंडर ही बैंक पहुंचे, जबकि 4302 आवेदकों के दस्तावेजों में खामियां हैं, जिन्हें दूर करने के लिए बैंक प्रबंधन के बुलाने के बाद भी ये लोग बैंक नहीं पहुंचे। प्रबंधन का कहना है कि यदि आवेदक इन खामियों को दूर नहीं कराएंगे तो उनके प्रकरण निरस्त भी हो सकते हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नौ सितंबर को मप्र के स्ट्रीट वेंडरों को संबोधित किया था। इस दौरान प्रदेश के एक लाख से अधिक पथ विक्रेताओं के बैंक खातों में राशि भी भेजी थी, जिसमें भोपाल के 4748 लोगों को इसका लाभ मिला था।

इन्होंने ऋण लेकर संवारी किस्मत

– रायसेन के सांची में सब्जी ठेला लगाने वाले डालचंद के काम को प्रधानमंत्री ने क्रांतिकारी बताया था। डालचंद जैविक सब्जियां बेचते हैं।

– ग्वालियर की अर्चना शर्मा व उनके पति ने प्रधानमंत्री से चर्चा की थी। अर्चना चाट ठेला लगाती हैं।

– इंदौर जिले के सांवेर के छगनलाल व उनकी पत्नी को पुरानी झाडू के पाइप इस्तेमाल करने के टिप्स प्रधानमंत्री ने दिए थे।

(इन पथ विक्रेताओं से नौ सितंबर को प्रधानमंत्री ने ऑनलाइन चर्चा की थी)

भोपाल में इतने पंजीयन हुए

95596 पथ विक्रेताओं का पंजीयन नगर निगम ने किया

42111 प्रकरण का किया गया अनुमोदन

22731 प्रकरण ऑनलाइन माध्यम से बैंकों में प्रेषित किए

11068 प्रकरणों को मंजूरी दी गई

6766 पथ विक्रेताओं को दी राशि

4302 पथ विक्रेता अब तक नहीं पहुंचे बैंकों में

10000 रुपये का ऋण दिया जाना है प्रत्येक को

ये खामियां निकली

ऋ ण के लिए दिए गए आवेदन में दस्तावेजों में कमी, मोबाइल नंबर गलत लिखा होना, दस्तावेज पर हस्ताक्षर नहीं होना पाया गया है। इन खामियों को दूर कराने के लिए आवेदकों को बैंक जाना होगा।

आठ अक्टूबर को बैठक

पथ विक्रेताओं को ऋ ण की राशि मंजूर की जा रही है, लेकिन बड़ी संख्या में वे बैंकों में खामियां सुधरवाने या हस्ताक्षर करने नहीं जा रहे हैं। इससे ऋण राशि जारी नहीं हो पा रही है। इस संबंध में आठ अक्टूबर को सभी बैंकर्स की बैठक रखी है।

-शैलेंद्र श्रीवास्तव, लीड बैंक मैनेजर भोपाल

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here