Home इंदौर न्यूज़ Indore Coronavirus Update; Municipal Corporation Action After Lockdown Unlock, Houses Demolished In...

Indore Coronavirus Update; Municipal Corporation Action After Lockdown Unlock, Houses Demolished In Nandlalpura | नंदलालपुरा सड़क चौड़ीकरण में बाधक बने 10 मकानों को निगम की 4 पोकलेन और 2 जेसीबी मशीन ने ढहाया, सड़क पर लोगों ने जमकर हंगामा किया

120
0

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Indore Coronavirus Update; Municipal Corporation Action After Lockdown Unlock, Houses Demolished In Nandlalpura

इंदौर7 घंटे पहले

निगम की टीम ने 10 मकानों को जमींदोज किया।

  • नंदलालपुरा चौराहे से गौतमपुरा चौराहे तक 60 फीट चौड़ी सड़क का निर्माण स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत हो रहा है
  • कोरोना संक्रमण के कारण पिछले 6 महीने से स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के काम रुके हुए थे, जिसे निगम ने फिर से शुरू किया

काेरोनाकाल के बाद अनलॉक हुए शहर में शनिवार को पहली बार निगम ने रिमूवल की बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चौड़ी होने वाली नंदलालपुरा सड़क में आ रहे 10 बाधक मकानों को ढहाया गया। हंगामे और विरोध के बीच निगम की 5 टीमों ने बचे हुए बाधक मकानों को चार पोकलेन और दो जेसीबी मशीन की मदद से जमींदोज कर दिया। मकान टूटने को लेकर बड़ी संख्या में लोग सड़क पर आ गए और जमकर बहसबाजी हुई। बड़ी संख्या में मौजूद पुलिस बल ने स्थिति को संभाला।

लोगों ने निगम की टीम का जमकर विरोध किया।

लोगों ने निगम की टीम का जमकर विरोध किया।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत शहर में कई विकास कार्य किए जा रहे हैं। इसी तारतम्य में शहर के मध्य क्षेत्र में नंदलालपुरा चौराहे से गौतमपुरा चौराहे तक 60 फीट चौड़ी सड़क का निर्माण भी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत करवाया जा रहा है। कोरोना संक्रमण के कारण पिछले 6 महीने से स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के काम रुके हुए थे। शहर के अनलॉक होने के बाद निगम ने एक बार फिर से रुके हुए विकास कार्यों को पूरा करने की ओर कदम बढ़ा दिया है। नंदलालपुरा क्षेत्र में सड़क चौड़ीकरण में बाधक बन रहे 10 निर्माणों के चिन्हित हिस्सों को नगर निगम की टीम ने दल-बल के साथ शनिवार दोपहर ढहा दिया।

सड़क चौड़ीकरण के लिए कुछ मकानों को पहले ही तोड़ दिया गया था।

सड़क चौड़ीकरण के लिए कुछ मकानों को पहले ही तोड़ दिया गया था।

निगम के अपर आयुक्त देवेंद्र ने बताया कि बाधक निर्माणों को हटाने के लिए निगम की ओर से पहले ही नोटिस जारी कर दिए गए थे। शनिवार को निगम का अमला विरोध की आशंका को देखते हुए भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचा और कार्रवाई को अंजाम दिया। सड़क चौड़ीकरण के लिए कुछ मकानों को पहले ही तोड़ दिया गया था, 10 मकान बचे थे, जिन्हें शनिवार को निगम की 7 रिमूवल टीम ने चार पोकलेन मशीन और दो जेसीबी मशीन की मदद से जमींदोज किया।

वहीं, पूरे मामले में पुलिस का कहना था कि किसी भी प्रकार की विवाद की स्थिति नहीं बनी है। जिनके अवैध निर्माण को ढहाया जाना था, उन्हें पहले ही नोटिस दिया जा चुका था। इस कारण उन्होंने पहले ही अपनी व्यवस्था कर ली थी।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here