Home राजधानी न्यूज़ Indore News: बांग्लादेशी लड़कियों को गुलाम बनाकर रखते बात न मानने पर...

Indore News: बांग्लादेशी लड़कियों को गुलाम बनाकर रखते बात न मानने पर बेल्ट से पीटते थे

78
0

Publish Date: | Tue, 29 Sep 2020 12:05 AM (IST)

इंदौर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। देह व्यापार के लिए बांग्लादेश से खरीदकर लाई गई जिन लड़कियों को आजाद कराया है, सोमवार को विजय नगर थाना पुलिस ने उनके बयान लिए। लड़कियों ने बताया कि आरोपित उन्हें बिना वीजा और पासपोर्ट के यहां लाए और गुलामों की तरह बंधक बनाकर रखा। वे जो कहें करना होता था। नहीं सुनने पर सिगरेट से भी दागा जाता था। कई बार भूखा-प्यासा तक रखकर बेल्ट से भी पीटते थे। इन लड़कियों को उनके घर पहुंचाने के लिए एटीएस, आइबी व अन्य केंद्रीय एजेंसियों की मदद ली जा रही है। वहीं एमआइजी थाना पुलिस ने रविवार को आधार कार्ड बनाने वाले दो आरोपितों को भी गिरफ्तार कर बयान लिए हैं। सोमवार देर रात तक उनसे पूछताछ होती रही।

टीआइ विजय सिसोदिया ने बताया कि गांधीनगर निवासी आरोपित 32 वर्षीय दीपक पुत्र राधेश्याम और वेंकटेश विहार छोटा बांगड़दा निवासी 53 वर्षीय गोवर्धन पुत्र भगवानलाल पुरोहित के बयान लिए हैं। दोनों ने कुबूला कि वे बांग्लादेश की लड़कियों के नकली आधार कार्ड बनाते थे, जिससे उन्हें होटलों व अन्य स्थानों पर ले जाने में किसी प्रकार की परेशानी न हो। दोनों पिछले डेढ़ साल से यह काम कर रहे हैं। आरोपितों के पास से करीब 400 नकली आधार कार्ड बनाने का डेटा मिला है। वहीं 40 से 50 खाते की जानकारी भी मिली है।

पुलिस युवतियों को पहुंचाएगी उनके घर

जल्द ही पुलिस इंदौर के सेक्स रैकेट सरगनाओं के कब्जे से छुड़वाई गई इन युवतियों को उनके घर पहुंचाएगी। आरोपितों से यह भी जानकारी मिली है कि शहर में सिर्फ बांग्लादेश की नहीं बल्कि रूस व यूक्रेन की एस्कार्ट सर्विस भी संचालित हो रही थी। दिल्ली के इमिग्रेशन डिपार्टमेंट से डीआइजी ने संपर्क कर ऐसी सर्विस के लिए आई युवतियों की जानकारी ली है और वे इंदौर में कहां ठहरी थीं, उनके ठिकानों का भी पता किया जा रहा है।

गिरोह के फरार आरोपितों को पकड़ने में लगी पुलिस

डीआइजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया कि इंटरनेशनल स्तर पर संचालित हो रहे एस्कार्ट सर्विस से जुड़े कई एजेंट फरार हैं। उनके बारे में यह जानकारी मिली है कि वे रूस व यूक्रेन से भी एस्कार्ट सर्विस के लिए युवतियों को फ्लाइट से भारत बुलाते थे। वे दिल्ली-मुंबई से होकर इंदौर पहुंचती थी। इन्हें शहर के कई बड़े होटलों या फार्म हाउस में ठहराया जाता है। डीआइजी ने बताया कि इस गिरोह से जुड़े मुख्य फरार सरगना सागर जैन, रोहन, कपिल, प्रमोद उर्फ बाबा के गिरफ्तार होने के बाद नई जानकारियां सामने आएंगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here