Home संपूर्ण ख़बर MP Weather Update : मप्र के इन जिलों में गरज-चमक के साथ...

MP Weather Update : मप्र के इन जिलों में गरज-चमक के साथ बौछार के आसार

140
0

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) में मानसून (Monsoon) की वापसी होने शुरु हो गई है, ठंड की शुरुआत 15 नवंबर के बीच होगी और दिसंबर के मध्य या तीसरे हफ्ते में कोल्ड डे (शीतल दिन) की शुरुआत हो जाएगी। मानसून की विदाई से पहले बढ़ रहे पारे से मौसम में उमस और गर्मी भरी हुई है हालांकि वही प्रदेश के कुछ जिलों में बौछारों के जारी सिलसिले के कारण लोगों को राहत मिल रही है। इसी बीच मौसम विभाग ने आज गुरुवार को प्रदेश के कई जिलों में आज गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें की संभावना जताई है।

मौसम विभाग के मुताबिक मानसून वापसी की ओर है और मौसम में लगातार बदलाव देखने को मिल रहा है 5 अक्टूबर तक प्रदेश भर से मौसम की विदाई हो जाएगी। गुजरात में बने चक्रवात के कारण हल्के हल्के बादल छाए रहेंगे। रात को मौसम ठंडा बना रहेगा, हालांकि ठंड की शुरुआत 15 नवंबर के बीच होगी और दिसंबर के मध्य या तीसरे हफ्ते में कोल्ड डे (शीतल दिन) की शुरुआत हो जाएगी। चौथे सप्ताह में शीत लहर चलना शुरू हो जाएगी।

इन जिलों में गरज चमक के साथ हल्की बौछार के आसार

मध्यप्रदेश के इंदौर संभाग के जिलों, उज्जैन,रतलाम, देवास, बैतूल, सिंगरौली, सीधी, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला और बालाघाट में गरज चमक के साथ छिटपुट बारिश हो सकती है।

बता दें कि प्रदेश में जुलाई में सामान्य से कम बारिश रिकॉर्ड होने के बाद अगस्त और सितंबर में अच्छी बारिश दर्ज की गई थी। वहीं राजधानी में 107 दिनों में 53.82 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई थी जो सामान्य से 10 इंच अधिक है।वही इस तरह पिछले 30 साल में तीसरी बार सबसे ज्यादा बारिश हुई है। देश में तीन महीने जून (118 प्रतिशत), अगस्त (127 प्रतिशत) और सितंबर (104 प्रतिशत) बारिश हुई जबकि जुलाई (90 प्रतिशत) में औसत से कम बारिश हुई । इस तरह मानसून के दौरान सामान्य से ज्यादा यानि 109 प्रतिशत बारिश हुई। इस साल 19 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में सामान्य बारिश हुई जबकि नौ राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में ज्यादा बारिश हुई।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here