Home इंदौर न्यूज़ Notification not even after a fortnight of ward reservation, panic and doubt...

Notification not even after a fortnight of ward reservation, panic and doubt among claimants | वार्ड आरक्षण के एक पखवाड़े बाद भी नहीं हुआ नोटिफिकेशन, दावेदारों में घबराहट और संशय

217
0

  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Notification Not Even After A Fortnight Of Ward Reservation, Panic And Doubt Among Claimants

भोपालएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • 17 सितंबर को हुआ था नगर निगम चुनाव के लिए वार्डों का आरक्षण
  • वार्ड आरक्षण की प्रक्रिया से असंतुष्ट लोग ले सकते हैं हाईकोर्ट की शरण

नगर निगम के आगामी चुनाव के लिए 17 सितंबर को हुए वार्ड आरक्षण का अब तक नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है। यानी उस दिन हुई लॉटरी की प्रक्रिया की अधिकृत घोषणा अब तक शेष है। एक पखवाड़े बाद भी नोटिफिकेशन जारी नहीं होने से पार्षद का चुनाव लड़ने के दावेदारों में घबराहट और संशय की स्थिति है। वार्ड आरक्षण से असंतुष्ट लोग जो इसे हाईकोर्ट में चुनौती देना चाहते हैं वे भी नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं। बिना अधिकृत नोटिफिकेशन के उनके लिए अदालत में चुनौती देना मुश्किल है।

हमारी आपत्ति के बाद रोका नोटिफिकेशन
सामाजिक कार्यकर्ता अमिताभ अग्निहोत्री ने कहा कि उनकी आपत्ति के बाद नोटिफिकेशन रोक दिया गया है। अग्निहोत्री के अनुसार कोलार नगरपालिका को भंग कर नगर निगम में मिलाने के संबंध में दायर उनकी याचिका पर सरकार जवाब नहीं दे रही है। अलग-अलग समय में की गई कार्रवाई में विरोधाभास है। वहीं, दूसरी ओर शाहपुरा क्षेत्र के कांग्रेस नेता नवीन चौबे ने कहा कि नोटिफिकेशन जारी होते ही कोर्ट में पूरी प्रक्रिया को चुनौती देंगे।

संशय की बड़ी वजह यह भी
प्रदेश में दोबारा भाजपा सरकार बनने पर अप्रैल में कैबिनेट ने फैसला लिया था कि पूर्व महापौर की अध्यक्षता में पूर्व पार्षदों की प्रशासकीय समिति बनाई जाएगी। राज्यपाल की मंजूरी के बाद भी इसका नोटिफिकेशन प्रकाशित नहीं हुआ और इस पर अमल नहीं हुआ।

जल्द जारी होगा नोटिफिकेशन
पूरे प्रदेश में 345 नगरीय निकायों में चुनाव होना हैं। इनमें से 110 के वार्ड आरक्षण के नोटिफिकेशन जारी हो गए हैं। जिला प्रशासन द्वारा कराए गए आरक्षण की पूरी प्रक्रिया और दस्तावेज का परीक्षण करना होता है। इसमें वक्त लगता है। भोपाल का वार्ड आरक्षण जल्द जारी होगा। इसमें कोई संशय की बात नहीं है।
राजीव निगम, डिप्टी सेक्रेटरी, यूएडीडी

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here